Lehren

शादी मेरी किस्मत में नहीं थी, पर मैं खुश हूं - आशा पारेख

आशा पारेख 60 और 70 के दशक की मशहूर अदाकाराओं में से एक हैं.यूं तो आशा पारेख ने बाल कलाकार के तौर पर अपने कॅरियर की शुरूआत की थी.पर पहचान मिली फिल्म दिल देके देखों से

Asha Parekh शादी मेरी किस्मत में नहीं थी, पर मैं खुश हूं - आशा पारेख Source : Press

आशा पारेख 60 और 70 के दशक की मशहूर अदाकाराओं में से एक हैं.यूं तो आशा पारेख ने बाल कलाकार के तौर पर अपने कॅरियर की शुरूआत की थी.पर पहचान मिली फिल्म दिल देके देखों से.इस फिल्म में आशा के अपोजिट थे शम्मी कपूर.फिल्म हिट हो गई और आशा पारेख बड़ी अभिनेत्री बन गई.अपने दो दशक के कॅरियर में आशा पारेख ने उस जमाने के सभी बड़े सितारों के साथ स्क्रीन शेयर किया.पर दिलीप कुमार के साथ आशा को काम करने का मौका नहीं मिला.इसके पीछे भी लोग कई तरह के तर्क देते हैं.पर य़हां हम आपको एक ऐसा राज बताएंगे कि उम्र के इस पडाव पर भी आशा पारेख आज इतना खुश औऱ हैपी लाइफ क्यों बिता रही हैं.जिसका खुलासा आशा पारेख ने हाल ही में किया है.आशा पारेख के मुताबिक उन्होने शादी नहीं किया है.इसलिए उनकी जिंदगी में खुशहाली है.पति बच्चों का भी कोई टेंशन नहीं हैं.दरअसल आशा पारेख आज के सामाजिक माहौल में आये बदलाव से काफी नाराज हैं.शादी करने के बाद जब बच्चे बड़े हो जाते हैं तो माता पिता की इज्जत नहीं करते.सो अलग.पति पत्नी में भी आए दिन झगड़े होते रहते हैं.समाज में आई इस तब्दीली से आशा पारेख काफी दुखी हैं.उनका कहना है इससे अच्छा यही है कि उन्होने शादी नहीं किया है.हालाकि गुजरे दिनों को याद करके आशा कहती हैं कि उनके माता पिता ने उनकी शादी की काफी कोशिश की.पर बात बन नहीं पाई.और मैं अविवाहित ही रह गई.औऱ आज मेरी यही डेस्टनी हैं ईश्वर ने मुझे जो कुछ भी दिया है उससे मैं काफी खुश हूं.और मुझे किसी से भी कोई शिकायत नहीं है.हिंदी सिनेमा के ऐसे ही किस्से जानने के लिए Subscribe कीजिए लहरें रेट्रो.

Loading...

You may also like