Lehren

कौन सी ख्वाहिश मधुबाला की रह गई अधूरी

मधुबाला, हिंदी सिनेमा की ऐसी अदाकारा रह चुकी हैं. जिनकी चर्चा सिनेमा परदे पर जितनी होती थी. उससे कहीं ज्यादा निजी लाइफ में मधुबाला सुर्खियों में थी.

Madhubala कौन सी ख्वाहिश मधुबाला की रह गई अधूरी Source : Press

मधुबाला, हिंदी सिनेमा की ऐसी अदाकारा रह चुकी हैं. जिनकी चर्चा सिनेमा परदे पर जितनी होती थी. उससे कहीं ज्यादा निजी लाइफ में मधुबाला सुर्खियों में थी. मधुबाला को इस बात का कोई इल्म नहीं था कि उनके दिल में छेद है. जिसकी वजह से वो ज्यादा सालों तक इस दुनिया में नहीं रह पाएंगी. मधुबाला तो प्यार बांटने में भरोसा रखती थी. और अपने काम को लेकर हमेशा सर्तक रहती थी. एक बार का किस्सा है कि फिल्म प्यासा की शूटिंग चल रही थी. लेखक अबरार अल्वी उसमें बिजी थी. तभी मधुबाला ने उन्हे अपने घर आने का बुलावा भेजा. समय निकालकर अबरार अल्वी मधुबाला से मिलने आए. मधुबाला ने अबरार अल्वी से कहा कि वो एक फिल्म बनाना चाहती हैं. जिसका डायरेक्शन भी वो खुद करेंगी. उसकी कहानी आपको लिखनी है. मधुबाला ने फिल्म की कहानी का आइडिया भी अबरार अल्वी को बता दिया. जिसका सार ये था कि एक मां बाप फिल्म के हीरो हीरोइन की शादी करवाना चाहते हैं. पर हीरो हीरोइन शादी नहीं करना चाहते और इसी उधेडबुन में वो ड्रामा करने लगते है. तो उन्हे वाकई में प्यार हो जाता है. और तब वो शादी करना चाहते हैं. लेकिन बाद में मां बाप इनके फैसले के खिलाफ हो जाते हैं. कहानी में दम था. लेकिन अबरार अल्वी ने कहा कि अभी मैं प्यासा की शूटिंग में बिजी हूं उसका काम खत्म होने के बाद ही मैं लिख पाउंगा..मधुबाला तैयार हो गई. उधर प्यासा की शूटिंग खत्म हुई इधर मधुबाला बीमार हो गई. लेकिन मधुबाला का फिल्मों में काम करना जारी था. मधुबाला मद्रास में एक फिल्म की शूटिंग कर रही थी. तभी उन्हे खून की उल्टियां होने लगी. डॉक्टरो ने मधुबाला को काम ना करने की सलाह दी. मधुबाला को फिर भी भरोसा था वो ठीक हो जाएगी. और अबरार अल्वी की लिखी कहानी पर वो फिल्म जरूर बनाएगी. लेकिन ऐसा हो ना सका. फिल्म निर्देशन करने की तमन्ना लिए मधुबाला इस दुनिया से बहुत दूर चली गई. पर कुछ दिनों बाद इसी थीम पर जे ओमप्रकाश ने फिल्म चाचा जिंदाबाद बनाई

Loading...

You may also like