Lehren

किशोर कुमार को कभी भी एक्टिंग नहीं थी पसंद

हिंदी सिनेमा के सबसे बेहतरीन पार्श्व गायको में किशोर कुमार का नाम शामिल है. किशोर कुमार जब मुंबई आए तो उनके भाई अशोक कुमार बडे स्टार बन चुके थे

kishore kumar किशोर कुमार को कभी भी एक्टिंग नहीं थी पसंद Source : Press

हिंदी सिनेमा के सबसे बेहतरीन पार्श्व गायको में किशोर कुमार का नाम शामिल है. किशोर कुमार जब मुंबई आए तो उनके भाई अशोक कुमार बडे स्टार बन चुके थे.पर फिर भी किशोर कुमार ने गायिकी को चुना जबकि अशोक कुमार चाहते थे कि किशोर उनकी तरह ही अभिनेता बने. फिल्म जिद्दी से किशोर कुमार ने अपने गायिकी के सफर की शुरूआत की. लेकिन इत्तेफाक से इसी फिल्म से किशोर के एक्टिंग की शुरूआत हो गई. दरअसल इस फिल्म में माली का रोल कर रहा एक कलाकार नहीं आया. तब अशोक कुमार ने किशोर कुमार से बोला.तुम माली बन जाओ. पहले तो किशोर दा तैयार नहीं हुए लेकिन भाई की जबरदस्ती के आगे उनकी एक ना चली. इसके बाद किशोर दा के गायिकी और एक्टिंग दोनों सफर का आगाज़ हो गया. किशोर कुमार ने करीब 102 फिल्में में अभिनय किया है. एक समय ऐसा भी आया कि किशोर कुमार गायकी.अभिनय.लेखन .डायरेक्शन और प्रोडक्शन हर क्षेत्र में हाथ अजमाने लगे. जिसकी वजह से दूसरे फिल्म निर्माताओं की कई फिल्में पेंडिग हो गई. किशोर कुमार के काम ना करने की वजह से प्रोड्यूसर्स ने किशोर कुमार पर केस कर दिया. नतीजा ये हुआ कि किशोर कुमार के अभिनय पर पाबंदी लगा दी गई. ऐसे समय में दुखी किशोर दा की हौसलाअफजाई की उनकी पत्नी ने.और कहां कि एक्टिंग पर पाबंदी लगी है. गायकी पर नहीं.आप गाना तो गा ही सकते हैं. सके बाद किशोर दा ने अपनी गायकी पर ध्यान लगाया फिर अराधना कटी पतंग जैसी फिल्मों में उनकी शानदार गायकी का नजराना हमे देखने को मिला.वैसे किशोर दा शुरू से ही अभिनय पसंद नहीं करते थे. लेकिन परिस्थित बस उन्हे एक्टिंग करनी पडी थी. पर एक्टिंग पर पाबंदी के बाद किशोर कुमार पूरी तरीके से आजाद थे.

Loading...

You may also like