पद्मावत मूवी रिव्यू

पद्मावत मूवी रिव्यू

CRITIC'S RATING    3.5/5
AVG READERS' RATING:    3.5/5
Movie Name
पद्मावत
DIRECTION
संजय लीला भंसाली
GENRE
ड्रामा, ऐक्शन
DURATION
02 hours 45 minutes

पद्मावत Review


अब जब की पहले ही संजय लीला भंसाली की फिल्म "पद्मावत" में इतिहास से छेड़छाड़ और फिल्म को गलत तरीके से दर्शाने को लेकर खूब बवाल हो चूका हैं तो फिल्म देखने से पहले सारे डिस्क्लेमर को ध्यान से पढ़ लेना चाहिए। फिल्म मलिक मुहम्मद जायसी की पद्मावत पर आधारित हैं जोकि काल्पनिक हैं और फिल्म के निर्माता सती का पुरजोर विरोध करते हैं।


जैसे ही आप आगे बढ़ते हैं भंसाली सीधे लेकर चलते हैं दिल्ली की राजनीती और इतिहास में और शुरू होती हैं भंसाली के अधभुद सेट्स की झलकियां। इसी के साथ एंट्री होती हैं डरावने और खूंखार अल्लाहदुद्दीन खिलजी की। सुलतान की बेटी मेहरुनिस्सा को एक पंख की चाह होती हैं और अल्लाहुद्दीन पूरा का पूरा पंख लाकर रख देता हैं। कहानी हैं जितने और उसकी हर चाह को हासिल करने की।


कहानी मैं ट्विस्ट आता हैं जब राजा रावल रतन सिंह, रानी पद्मावती को अपने साथ अपनी दुल्हन बनाकर घर लौट जाते है। जहा एक तरफ चित्तोर मैं जोरो शोरो से तैयारियां होती हैं अपनी नयी रानी को स्वागत करने की तो वही दूसरी और राजा की पहली पत्नी भयभीत होती हैं और आगे क्या होता हैं ये जानने के लिए आपको सिनेमा घरो मैं जाना पड़ेगा।


पद्मावत मैं भंसाली के भव्य सेट्स बेहतरीन निर्दैशक और ये सब 3d मैं अनुभव करना इसे और मज़ेदार बना देता हैं। कुछ ऐसे सीन्स भी हैं जहा हर छोटी चीज़ का बड़ी बारीकी से ध्यान रखा गया हैं।


प्रकाश कपाडिया के डायलॉग जैसे "सरहदें बहुत फैलाई, अब बाहें फैलाइये / गर्दन और इरादा दोनों मजबूत होना चाहिए" अल्लाहुदीन के किरदार को और दमदार बना देते हैं।


जहा रणवीर सिंह अल्लाउद्दीन के किरदार मैं कुछ बेहतर करने की कोशिश में दिखे जो कभी कभी उतनी दमदार नज़र नहीं आयी। तो वही दीपिका एक रानी के रूप मैं खूब जचि जिसने इतिहास बदल दिया तो वही शहीद कपूर राजा रावल रतन सिंह की भूमिका को भी अच्छी तरह से निभाते दिखे वही घूमर गाने मैं पद्मावती की कमर को कंप्यूटर टेक्निक के जरिये ढक दिया गया हैं जैसा की सेंसर बोर्ड से निर्देश दिए गए थे।


Analysis

    Direction
    4/5
  • Dialogues
    3/5
  • Story
    3.5/5
  • Music
    3/5
  • Screen Play
    3.5/5

The Verdict

जहा हमे फिल्म के अंदर कुछ भी अप्पतिजनक नज़र नहीं आता है तो वही अगर फिल्म की लम्बाई थोड़ी कम होती तो जरूर फिल्म और बेहतर हो सकती थी।

Share


 

In Theaters Now

Mission Mangal Movie Review 2019:Rocket Science Turns Elevating & Entertaining
Once Upon A Time In Hollywood Movie Review 2019: Retro With An Interesting Twist
Batla House Movie Review 2019: True Story Of Triumph Over terror
More +

Upcoming Movies

Joker (2019) Trailer Review: High Expectations from Todd’s Deconstruction of Joker
More +