Lehren

इस एक फिल्म ने बचा लिया था गोविंदा के डूबते फिल्मी करिअर को, आज भी है ये फिल्म सुपरहिट

फिल्म इंडस्ट्री के बेस्ट एंटरटेनर गोविंदा अगर इस फिल्म को साईन नहीं करते तो शायद हम सब एक ऐसे एंटरटेनमेंट से महरूम रह जाते जो हमे दस साल हंसाता गुदगुदाता रहा।

गोविंदा, दिव्या भारती इस एक फिल्म ने बचा लिया था गोविंदा के डूबते फिल्मी करिअर को, आज भी है ये फिल्म सुपरहिट Source : Press

अपनी पहली फिल्म इल्जाम सुपरहिट होने के बाद से गोविंदा का करिअर ट्रैक पर था, लेकिन, एकजैसी फिल्में करने की वजह से एक के बाद एक कर फिल्में पिटने लगी। गोविंदा का करिअर बुरी तरह से लडखडा गया था, लव 86 फिल्म के बाद गोविंदा ने लगभग पचास से भी ज्यादा फिल्में की लेकिन, एक भी नहीं चली, हालांकि, सस्पेंस फिल्म हत्या में गोविंदा की एक्टिंग जरूर सराही गई लेकिन, गोविंदा करिअर ट्रैक पर आया 1992 में आयी फिल्म शोला और शबनम से, ये फिल्म ऐसे वक्त पर रिलीज हुई जब किसी और से ज्यादा गोविंदा को एक अदद हिट की जरूरत थी। शोला और शबनम जबरदस्त हिट रही। फुल टू मसाला फिल्म और दिव्या भारती के साथ फ्रेश केमिस्ट्री ने बॉलिवुड में म्यूजिकल मसाला फिल्मों का नया ट्रेंड शुरू कर दिया। शोला और शबनम के बाद गोविंदा के होम प्रोडक्शन की फिल्म आयी राधा का संगम जो बुरी तरह पिट गई, गोविंदा ने इससे सबक लेते हुए डेविड धवन के साथ जोडी बनायी और आंखे से लेकर तो हीरो नंबर वन, कुली नंबर वन, हसीना मान जाएगी, राजा बाबू, साजन चले ससुराल से लेकर तो पार्टनर तक एक से बढकर एक सुपरहिट फिल्में दी। ऐसा नहीं है कि, किसी और के साथ गोविंदा ने फिल्में नहीं की लेकिन, हरमेश मल्होत्रा डिरेक्टेड दुल्हे राजा छोड कर बाकी सभी फिल्में बुरी तरह से फ्लॉप रही। यानि अगर हम ये कहें कि, गोविंदा के साथ डेविड की केमिस्ट्री फिल्मी पर्दे पर हमेशा सफल रही तो गलत नहीं होगा।