जब बंद कमरे में प्राण से डर गई थी अरुणा ईरानी

प्राण साहब परदे पर विलन का किरदार कुछ इस तरह निभाते थे के लोग उन्हें रियल लाइफ में भी विलन समझते थे. कुछ ऐसा ही किस्सा है प्राण और अरुणा ईरानी का.

जब बंद कमरे में प्राण से डर गई थी अरुणा ईरानी जब बंद कमरे में प्राण से डर गई थी अरुणा ईरानी Source : press

जब भी बॉलीवुड के विलन्स का नाम आता है, तो अभिनेता प्राण का नाम ना लिया जाये ये तो मुमकिन नहीं है. लेकिन रील लाइफ में विलन का रोले करने वाले असल ज़िन्दगी में भी विलन जैसे नहीं होते. लेकिन प्राण साहब परदे पर विलन का किरदार कुछ इस तरह निभाते थे के लोग उन्हें रियल लाइफ में भी विलन समझते थे.
ऐसा ही कुछ एक्ट्रेस अरुणा ईरान के साथ हुआ. 

pran

अरुणा ईरान प्राण को निजी तौर पर नहीं जानती थी. पहली बार दोनों ने साथ काम किया 'जौहर महमूद इन हॉन्ग कॉन्ग' में. शूट हॉन्ग कॉन्ग में ही होना था. शूट ख़त्म होने के बाद दोनों एक साथ एक ही फ्लाइट में इंडिया वापस लौटने वाले थे के किसी कारन उनकी कनेक्टिंग फिल्घ्त मिस हो गई. क्युकी दोनों सेलिब्रिटी थे इसलिए फ्लाइट मैनेजर ने सोचा के उन्हें कोई तकलीफ ना हो इसलिए एक होटल में दोनों को ठहराया जाये. अरुणा मन ही मन घबरा रही थी, के वो प्राण के साथ कैसे रहेंगे, उन्हें तो प्राण से डर लगता था.

aruna irani

उनके ज़हन में प्राण का विलनवाला चेरा ही था. होटल पहुंचते ही वो जल्दी से अपने कमरे में चली गई. अपने रूम में वो सेटल हो ही रही थी के, कमरे की घंटी बजी. अरुणा ने पूछा "कोन है?" तो बहार से आवाज़ आई "मैं प्राण, दरवाज़ा खोलो". अरुणजी घबरा गई. काफी देर तक उन्होंने दरवाज़ा नहीं खोला. प्राण साहब समझ गए और उन्होंने बहार से ही कहा "घबराने की कोई बात नहीं, किसी चीज़ की जरूरत हो, तो मुझे बता देना"
ये सुन कर अरुणाजी का टेंशन ख़त्म हुआ और उन्हें ये एहसास हुआ के असल ज़िन्दगी में प्राण साहब कितने भले इंसान है. उन्हें एक रियल लाइफ प्राण को जानने का मौका मिला.