रजा मुराद ने सांझा किया की किस तरह राज कपूर के साथ मनाते थे होली

ऐसा कहा जाता है की राज कपूर जैसी होली न कोई मनाता है और न ही कोई मना सकता है. एक तरफ जहाँ सुभाष घई होली में भांग घोल देते थे वहीँ अमिताभ बच्चन हर आदमी को गले लगा लेते थे. कुछ ऐसी ही पुरानी यादों को बॉलीवुड एक्टर रजा मुराद ने एक इंटरव्यू में साझा किया.

रजा मुराद ने सांझा किया की किस तरह राज कपूर के साथ मनाते थे होली रजा मुराद ने सांझा किया की किस तरह राज कपूर के साथ मनाते थे होली Source : Press

ऐसा कहा जाता है की राज कपूर जैसी होली न कोई मनाता है और न ही कोई मना सकता है. एक तरफ जहाँ सुभाष घई होली में भांग घोल देते थे वहीँ अमिताभ बच्चन हर आदमी को गले लगा लेते थे. 

कुछ ऐसी ही पुरानी यादों को बॉलीवुड एक्टर रजा मुराद ने एक इंटरव्यू में साझा किया. उन्होंने बॉलीवुड में खेले जाने वाली होली से हम सभी को रूबरू करवाया.

उन्होंने बताया की आर.के स्टूडियो में पहले होली बेहद ही बड़े पैमाने पे खेली जाती थी जो किसी बड़े उत्सव से काम नहीं होता था. आर के स्टूडियो में होली उत्सव का मतलब भांग व फूड फेस्टिवल होता था. आर के स्टूडियो में बाकायदा एक कुंआ बनाया गया था. जिसमें हर एक व्यक्ति को डुबकी लगाने को मजबूर कर दिया जाता था.

उन्होंने आगे कहा की मुझे पहली बार आर के स्टूडियो में जब होली खेलने का मौका मिला तो मैं तो खुशी से फूला नहीं समाया था. आने वाले कई सालों तक आरके स्टूडियो में होली का जश्न धूम धाम से मनाया जाता था. राजकपूर की होली बॉलीवुड से लेकर हॉलीवुड तक पसंद की जाती रही. 

 हर किसी एक्टर की यह ख्वाइश होती थी कि आरके की होली जरूर खेली जाए. उन्हें आर.के स्टूडियो में होली खेलने का कई दफा मौका मिला. बिग बी अमिताभ बच्चन जैसे कलाकार भी यहां अलग ही नजर आते थे. समय के साथ ही होली मनाने के तरीके भी बदल गए और लोगों के अंदर का उत्साह भी.