Lehren

14 लोगों को अपना शिकार बनाने वाली खूंखार बाघिन मारी गई, लोगो ने मनाया जश्न

महाराष्ट्र में आतंक का पर्याय बन चुकी आदमखोर बाघिन अवनी को मार गिराया गया है। यह बाघिन अब तक 14 लोगों सहित करीब 500 जंगली जानवरों का शिकार कर चुकी थी। शुक्रवार की रात वन विभाग की टीम ने काफी मशक्कत के बाद यवतमाल में इस बाघिन को मार गिराया।

बाघिन 14 लोगों को अपना शिकार बनाने वाली खूंखार बाघिन मारी गई, लोगो ने मनाया जश्न Source : Press


महाराष्ट्र में आतंक का पर्याय बन चुकी आदमखोर बाघिन अवनी को मार गिराया गया है। यह बाघिन अब तक 14 लोगों सहित करीब 500 जंगली जानवरों का शिकार कर चुकी थी। शुक्रवार की रात वन विभाग की टीम ने काफी मशक्कत के बाद यवतमाल में इस बाघिन को मार गिराया। 5 वर्षीय इस बाघिन को टी-1 के नाम से भी जाना जाता था। 


वहीं, इस आदमखोर बाघिन के मारे जाने की सूचना मिलते ही यवतमाल के स्थानीय लोगों में जश्न का माहौल बन गया है। लोग पटाखे फोड़कर और एक-दूसरे को मिठाई खिलाकर खुशियां मना रहे हैं।

डीएनए जांच, कैमरा ट्रैप्स और पंजों के निशानों के चलते जांचकर्ता इस निष्कर्ष पर पहुंचे थे कि पांच साल की यह मादा बाघ अब आदमखोर हो गई है और मानव मांस के लिए लोगों की शिकार कर रही है। यवतमाल जिले में खूंखार हो चुकी बाघिन को पकड़ने के लिए 100 कैमरे और वन विभाग के अधिकारियों समेत कुल 200 लोगों की टीम सर्च ऑपरेशन चला रही थी। इसको ढूंढ़ने के लिए शिकारी कुत्तों और पैराग्लाइडर्स को लगाया गया था।

इस बाघिन ने अपना पहला शिकार एक वृद्ध महिला को बनाया था। खेत में पड़े जब लोगों ने उसके शव को देखा तो पीठ पर पंजे के गहरे निशान मिले थे। इसी साल 29 जनवरी को बॉम्बे हाईकोर्ट की नागपुर पीठ ने इस मामले में सुनवाई करते हुए बाघिन टी-1 को गोली मारने के आदेश पर रोक लगा दी थी। लेकिन कुछ ही महीनों बाद उसने फिर दो लोगों को मार दिया, जिसके बाद उसे गोली मारने का आदेश जारी किया गया।


Loading...

You may also like