बुलंदशहर: गोहत्या की अफवाह के बाद हिंसक भीड़ ने पुलिस इंस्पेक्टर के सिर में गोली मारकर हत्या कर दी

गोहत्या की अफवाह पर हिंसक हुई भीड़ ने सोमवार को उत्तरप्रदेश के बुलंदशहर में पुलिस इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की सिर में गोली मारकर हत्या कर दी। गोली लगने के बाद भी भीड़ उन्हें पीटती रही। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में यह खुलासा हुआ है कि उनके बाईं आंख के पास गोली लगने मौत हुई।

बुलंदशहर बुलंदशहर: गोहत्या की अफवाह के बाद हिंसक भीड़ ने पुलिस इंस्पेक्टर के सिर में गोली मारकर हत्या कर दी Source : press


गोहत्या की अफवाह पर हिंसक हुई भीड़ ने सोमवार को उत्तरप्रदेश के बुलंदशहर में पुलिस इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की सिर में गोली मारकर हत्या कर दी। गोली लगने के बाद भी भीड़ उन्हें पीटती रही। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में यह खुलासा हुआ है कि उनके बाईं आंख के पास गोली लगने मौत हुई। साथ ही उनके शरीर पर घुटने, कमर, कंधे और पीठ पर डंडों की मार के निशान पाए गए हैं। 


जिला मजिस्ट्रेट अनुज कुमार झा ने बताया कि पुलिस के समझाने पर भी प्रदर्शनकारी अड़ गए थे। प्रदर्शनकारियों ने पुलिस पर भी पथराव किया। पुलिस को बचाव में गोलियां भी चलानी पड़ीं। इस बीच भीड़ ने पुलिस इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह के सिर पर गोली मार दी। आक्रोशित भीड़ ने चौकी के बाहर दर्जनों वाहन फूंक दिए। भीड़ ने इंस्पेक्टर की हत्या के बाद जीप से लटके शव का वीडियो भी बनाया।


जांच के लिए दो एसआईटी गठित की गई हैं। गोकशी में सात लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है। वहीं जांच इंस्पेक्टर सुबोध और चिंगरावठी के युवक सुमित की मौत के मामले में होगी। एडीजी (कानून-व्यवस्था) आनंद कुमार ने बताया कि स्याना थाने के तहत आने वाले महाव गांव के पूर्व प्रधान ने खेत में गोवंश के कथित अवशेष मिलने की जानकारी दी थी। पुलिस मौके पर पहुंचकर कार्रवाई कर रही थी। इसी दौरान हिंदू संगठनों के कार्यकर्ताओं के साथ ग्रामीण अवशेषों को ट्रैक्टर-ट्रॉली में भरकर पुलिस चौकी ले गए। उन्होंने बुलंदशहर-गढ़ हाईवे जाम कर दिया।



You may also like