रेलवे राज्य मंत्री मनोज सिन्हा बन सकते हैं उत्तर प्रदेश के अगले मुख्यमंत्री

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक योगी आदित्यनाथ,राजनाथ सिंह,प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्या को काफी पीछे छोड़ रेलवे राज्य मंत्री मनोज सिन्हा उत्तर प्रदेश के अगले मुख्यमंत्री बन सकते हैं. मनोज सिन्हा प्रधानमंत्री मोदी और बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के सबसे करीबी है.

मनोज सिन्हा रेलवे राज्य मंत्री मनोज सिन्हा बन सकते हैं उत्तर प्रदेश के अगले मुख्यमंत्री Source : Press

रेलवे राज्य मंत्री के तौर पर मनोज सिन्हा का काम सबसे बेहतर रहा है. इसके अलावा मनोज सिन्हा की पूर्वांचल में काफी पैठ है. क्योकि वो बनारस हिंदू विश्वविद्यालय के छात्र संघ के अध्यक्ष रह चुके है. और लगातार अपने क्षेत्र से विजय हासिल कर रहे हैं.

यूपी विधान सभा चुनावों में मिली भारी जीत के बाद भी बीजेपी हाईकमान मुख्यमंत्री पद के लिए अभी तक फैसला नहीं कर पाया है. ऐसे में जो खबरे निकलकर सामने आ रही है. उसके मुताबिक शनिवार को 18 मार्च को मुख्यमंत्री के नाम की घोषणा अधिकारिक तौर पर की जाएगी. और रविवार 19 मार्च को शपथ ग्रहण समारोह होगा.

पर सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक योगी आदित्यनाथ,राजनाथ सिंह,प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्या को काफी पीछे छोड़ रेलवे राज्य मंत्री मनोज सिन्हा उत्तर प्रदेश के अगले मुख्यमंत्री बन सकते हैं. मनोज सिन्हा प्रधानमंत्री मोदी और बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के सबसे करीबी है. और रेलवे राज्य मंत्री के तौर पर मनोज सिन्हा का काम सबसे बेहतर रहा है. इसके अलावा मनोज सिन्हा की पूर्वांचल में काफी पैठ है. क्योकि वो बनारस हिंदू विश्वविद्यालय के छात्र संघ के अध्यक्ष रह चुके है. और लगातार अपने क्षेत्र से विजय हासिल कर रहे हैं. साथ ही मनोज सिन्हा की छवि एक जमीनी नेता के तौर पर है. जोकि बीजेपी के लिए फायदेमंद साबित हो सकता है.

जहां तक बाद केशव प्रसाद मौर्या की है तो अमित शाह ने पहले केशव को मुख्यमंत्री चुनने की जिम्मेदारी देकर उन्हे इस रेस से बाहर कर दिया था. तो वहीं राजनाथ सिंह ने खुद ही एक बयान देकर ये स्पष्ट कर दिया था कि वो इस रेस में शामिल नहीं हैं.

अब मैदान में योगी आदित्यनाथ और मनोज सिन्हा ही थे. तो पीएम मोदी और अमित शाह ने योगी के बजाए मनोज सिन्हा को ये जिम्मेदारी देना ज्यादा बेहतर समझा. पर मनोज सिन्हा ने आपने आपको इस रेस से बाहर बताया है. बहरहाल अब 18 मार्च को सभी की निगाहे इसपर रहेगी जब उत्तर प्रदेश के नये मुख्यमंत्री के नाम की औपचारिक घोषणा की जाएगी.