यूपी सीएम योगी का मंत्रियों को नया फरमान, हर साल 31 मार्च तक जमा करें संपत्तियों का ब्यौरा

योगी ने इस लेटर में सभी मंत्रियों से मंत्री बनने से पहले की आमदनी और व्यवसाय का जिक्र भी किया है. और साफ तौर पर ये कहा है कि अगर ये व्यवसाय सरकारी है तो कोई भी मंत्री उससे ना जुड़े जिससे की सरकार की छवि पर असर पड़े.

योगी यूपी सीएम योगी का मंत्रियों को नया फरमान, हर साल 31 मार्च तक जमा करें संपत्तियों का ब्यौरा Source : Press

योगी ने इस लेटर में सभी मंत्रियों से मंत्री बनने से पहले की आमदनी और व्यवसाय का जिक्र भी किया है. और साफ तौर पर ये कहा है कि अगर ये व्यवसाय सरकारी है तो कोई भी मंत्री उससे ना जुड़े जिससे की सरकार की छवि पर असर पड़े. इसके अलावा योगी ने मंत्रियों से ये भी कहा है कि बिना वजह के किसी भी दावत या निमंत्रण में शिरकत ना करें और अगर किसी सरकारी दौरे पर कहीं जाए तो वहीं ठहरने के लिए केवल रकारी गेस्ट हाउस का इस्तेमाल करें.

पिछले हफ्ते उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंत्रियों के नाम एक लेटर लिखा है जिसमें योगी ने अपने मंत्रियों के लिए एक आचार संहिता बनाई है जिसका पालन करने को सभी मंत्रियों से कहा गया है. योगी ने इस लेटर में सभी मंत्रियों से मंत्री बनने से पहले की आमदनी और व्यवसाय का जिक्र भी किया है. और साफ तौर पर ये कहा है कि अगर ये व्यवसाय सरकारी है तो कोई भी मंत्री उससे ना जुड़े जिससे की सरकार की छवि पर असर पड़े. इसके अलावा योगी ने मंत्रियों से ये भी कहा है कि बिना वजह के किसी भी दावत या निमंत्रण में शिरकत ना करें और अगर किसी सरकारी दौरे पर कहीं जाए तो वहीं ठहरने के लिए केवल सरकारी गेस्ट हाउस का इस्तेमाल करें.कोई भी ऐसा दिखावा ना करें. जिससे कि सरकार की बदनामी हो. योगी ने अपने इस लेटर में विधायको या मंत्रियों से 5 हजार से ज्यादा के गिफ्ट ना लेने की सलाह भी दी है.साथ ही किसी भी सरकारी ठेके में किसी रिश्तेदार के लिए दवाब या फिर ठेका दिलवाने में रूचि ना दिखाए. और हर साल 31 मार्च तक सभी मंत्री और विधायक भी अपने चल अचल संपत्तियों का ब्यौरा सरकार को जरूर सौंपे. योगी ने अपने इस खत में मंत्रियों को आचार संहिता का जो पाठ पढ़ाया है. उस पर मंत्री कितना अमल करते हैं. ये तो आने वाला समय ही बताएगा. पर इतना तो जरूर है कि सीएम योगी ने अपने फैसलों से जनता के बीच में अपनी एक छवि जरूर बना ली है.