तीन तलाक पर चुप रहने वालों पर योगी आदित्यनाथ का बयान, कहा चुप रहने वोले भी अपराध है

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने तीन तलाक मसले पर अपनी राय जाहिर की और उसकी तुलना महाभारत के द्रौपदी चीरहरण से कर दी.

योगी आदित्यनाथ तीन तलाक पर चुप रहने वालों पर योगी आदित्यनाथ का बयान, कहा चुप रहने वोले भी अपराध है Source : Press

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने तीन तलाक मसले पर अपनी राय जाहिर की और उसकी तुलना महाभारत के द्रौपदी चीरहरण से कर दी. योगी आदित्यनाथ के मुताबिक तीन तलाक पर कुछ लोगों का मौन सवाल खड़ा करता है. जो लोग मौन हैं वो अपराधी की तरह हैं. जब द्रोपदी का चीरहरण हुआ था तो उस समय कुछ लोग चुप बैठे हुए थे. आज भी तीन तलाक के मुद्दे पर कुछ लोग मौन हैं.

पूर्व प्रधान मंत्री चंद्रशेखर की 91वीं जयंती के मौके पर यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने तीन तलाक मसले पर अपनी राय जाहिर की और उसकी तुलना महाभारत के द्रौपदी चीरहरण से कर दी. योगी आदित्यनाथ के मुताबिक तीन तलाक पर कुछ लोगों का मौन सवाल खड़ा करता है. जो लोग मौन हैं वो अपराधी की तरह हैं. जब द्रोपदी का चीरहरण हुआ था तो उस समय कुछ लोग चुप बैठे हुए थे. आज भी तीन तलाक के मुद्दे पर कुछ लोग मौन हैं. योगी ने समान आचार संहिता का भी जिक्र किया और कहा कि जब हम चंद्रशेखर जी की बातों को पढ़ते हैं, उन्होंने कहा था कि देश में एक सिविल कोड बनाने की जरूरत है. जब हमारे मामले समान हैं, तो शादी ब्याह के कानून भी समान क्यों नहीं हो सकते हैं. कॉमन सिविल कोड के बारे में उनकी धारणा स्पष्ट थी. उनके लिए अपनी विचारधारा नहीं बल्कि उनके लिए राष्ट्र महत्वपूर्ण था. हमारी राजनीति राष्ट्रीय हितों पर घात प्रतिघात करके नहीं बल्कि राष्ट्र और संविधान के दायरे में होनी चाहिए. जिस दिन हम इस दायरे में रहकर काम शुरू कर देंगे तो ऐसे टकराव की नौबत ही नहीं आएगी और देश में कोई कानून के साथ खिलवाड़ की हिम्मत नहीं कर सकेगा.