Lehren

यूपी के गोरखपुर में बच्चों की मौत का जिम्मेदार कौन? गरमाई सियासत

दो दिन पहले ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गोरखपुर दौरे पर गए थे. मेडिकल कॉलेज में मरीजों से भी उन्होने मुलाकात की थी. पर लगता है अधिकारियों ने मुख्यमंत्री को सही जानकारी नहीं दी थी. और उसके बाद ही बच्चों की मौत का आंकडा लगातार बढता ही जा रहा है. और इसकी वजह आक्सीजन की कमी को बताया जा रहा है. जिसकी वजह से गोरखपुर के बीआरडी सरकारी मेडिकल कॉलेज में 2 दिन में 26 बच्चों समेत 63 मरीजों की मौत हो गई है.

यूपी के गोरखपुर में बच्चों की मौत यूपी के गोरखपुर में बच्चों की मौत का जिम्मेदार कौन? गरमाई सियासत Source : Press

यूपी के गोरखपुर जिले के सरकारी मोडिकल कॉलेज में हुई बच्चों की मौत पर अब सियासत गरम हो गई है. सीएम योगी ने जहां अपने दो मंत्रियों को गोरखपुर भेजा है वहीं कांग्रेस ने भी अपने प्रतिनिधियों को गोरखपुर भेजा है. मजे की बात ये है कि दो दिन पहले ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गोरखपुर दौरे पर गए थे. मेडिकल कॉलेज में मरीजों से भी उन्होने मुलाकात की थी. पर लगता है अधिकारियों ने मुख्यमंत्री को सही जानकारी नहीं दी थी. और उसके बाद ही बच्चों की मौत का आंकडा लगातार बढता ही जा रहा है. और इसकी वजह आक्सीजन की कमी को बताया जा रहा है. जिसकी वजह से गोरखपुर के बीआरडी सरकारी मेडिकल कॉलेज में 2 दिन में 26 बच्चों समेत 63 मरीजों की मौत हो गई है.

दरअसल, बीआरडी मेडिकल कॉलेज छह महीने में 83 लाख रु. की ऑक्सीजन उधार ले चुका है. गुजरात की सप्लायर कंपनी पुष्पा सेल्स का दावा है कि करीब 100 बार चिट्‌ठी भेजने के बाद भी पेमेंट नहीं हुई. ऐसे में 1 अगस्त को चेतावनी दी और 4 से सप्लाई रोक दी. बुधवार से ऑक्सीजन टैंक में प्रेशर घटने लगा. इसके चलते गुरुवार और शुक्रवार को गंभीर हालत के 63 मरीजों की मौत हो गई.

हॉस्पिटल के दौरे पर पहुंचे कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि इस घटना से देश आहत हुआ है. सरकार की लापरवाही की वजह से बच्चों के परिवारों को दुख पहुंचा है. यूपी के सीएम, हेल्थ मिनिस्टर और हेल्थ सेक्रेटरी को फौरन इस्तीफा देना चाहिए. ये उनकी जिम्मेदारी है, वो पीछे नहीं हट सकते हैं. इसमें डॉक्टरों की कोई गलती नहीं है. आजाद के साथ प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष राज बब्बर और आरपीएन सिंह भी थे. पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने भी इसके लिए योगी सरकार को जिम्मेदार ठहराकर कठोर कार्रवाई की मांग की है. जबकि यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने साफ कर दिया है कि विपक्ष हड़बड़ी में बयान दे रहा है. यूपी सरकार जनता की सेवा के लिए हमेशा तैयार है. दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई होगी. सरकार का ये भी कहना है कि ऑक्सीजन की कोई कमी नहीं हुई है.