Lehren

नहीं रहे कपिल मोहन, 88 की उम्र में दुनिया को कहा अलविदा!

कपिल मोहन का 88 की उम्र में निधन हो गया। अब शायद ये बताना कुछ लोगों के लिए जरूरी होगा कि, कपिल मोहन दरअसल थे कौन? कइयों को शायद इनके बारे में पता भी होगा लेकिन, जिन्हे नहीं पता उनके लिए ये खबर जरूरी है। कपिल मोहन वो हैं जिन्होने सबसे फेमस रम ओल्ड माँक का निर्माण कराया था।

कपिल मोहन नहीं रहे कपिल मोहन, 88 की उम्र में दुनिया को कहा अलविदा! Source : Press


अब दिमाग में बत्ती जली! जीहां ये वही कपिल मोहन हैं जिनकी वजह से न जाने कितनों के होस्टलों की रातें रंगीन हुईं होंगी। अगर मैं ये कहूं कि, बीअर से 'ड्रिंकिंग करिअर' की शुरूआत करनेवाले कइयों ने 'हार्ड ड्रिंक्स' का पहला सीप जो लिया होगा वो 99 फीसदी ओल्ड माँक का ही होगा तो गलत नहीं होगा। क्योंकि, सबसे बडी वजह ये रही कि, ओल्ड माँक की कीमत आज भी बाकी रमस् की तुलना में काफी कम है और ओल्ड माँक के चाहनेवालों का तादात दिनोंदिन बढती जा रही है।


अब जरा कपिल मोहन के बारे में थोडी जानकारी, कपिल मोहन रिटायर्ड ब्रिगेडियर थे। कपिल मोहन मीकिन लिमिटेड के चेयरमैन थे। यह कंपनी ही ओल्ड माँक के साथ-साथ बाकी कुछ और ड्रिंक्स बनाने का काम करती है। मोहन को उनके गाजियाबाद वाले घर में हर्ट अटैक आया था। 1954 में लॉन्च हुई ओल्ड माँक दुनिया की सबसे ज्यादा बिकने वाली रम थी, हालांकि, दो साल पहले अफवाह उड़ी थी कि कंपनी ओल्ड मंक को बंद होने वाली है। लेकिन, तब कपिल मोहन ने खुद ही सामने आकर इन अफवाहों का खंडन किया था। इस अफवाह की वजह से कइयों ने ओल्ड माँक का स्टॉक खरीद कर रख भी लिया था, मगर, अफवाह साबित होने के बाद भी चाहनेवालों के ओल्ड माँक की खरीदारी में कोई कमी नहीं आयी है।


एक शराब व्यापारी को पद्मश्री पुरस्कार से नवाजा जाने का शायद ये पहला और आखिरी मौका रहा होगा, उन्हे 2010 में पद्मश्री पुरस्कार से नवाजा गया। उन्हें 2010 में पद्मश्री पुरस्कार से भी नवाजा गया था।


You may also like