Lehren

बागबान के लिए अमिताभ बच्चन नहीं दिलीप कुमार थे पहली पसंद

अचला नागर ने रंगमंच सस्था स्वास्तिक रंगमंडल के 40 साल पूरे होने पर बागबान की कामयाबी का जिक्र भी किया. और ये भी खुलासा किया कि ये कहानी उन्होने बी.आर चोपड़ा के लिए लिखी थी. जो अपने सबसे पसंदीदा कलाकार दिलीप कुमार को लेकर बागबान बनाना चाहते थे. पर दिलीप कुमार ने इस फिल्म में काम करने से मना कर दिया था.

बागबान, अमिताभ बच्चन, दिलीप कुमार बागबान के लिए अमिताभ बच्चन नहीं दिलीप कुमार थे पहली पसंद Source : Press
सदी के महानायक अमिताभ बच्चन और ड्रीम गर्ल हेमा मालिनी अभिनीति फिल्म बागबान एक बेहद ही कामयाब फिल्म थी. जो 2003 में रिलीज हुई थी. ये फिल्म एक ऐसे परिवार की कहानी थी.जो आज के जमाने में अपने आप को ढ़ालने के लिए नैतिक मूल्यों की बलि दे रहा है. एक ऐसे बुजुर्ग पिता की कहानी थी जो अपने बच्चों को तमाम मुश्किलों का सामना कर पाल पोषकर बड़ा करता है. उन्हे कुछ बनने के काबिल बनाता है. पर वही बच्चे जब बड़े होते हैं तो अपने मां बाप को भूल जाते हैं. उनकी कुर्बानियों को अपने ऐशो आराम की वजह से कुचल देते हैं. पारिवारिक रिश्तों के ताने बाने बुनी इस बागबान को लोगों का बहुत प्यार मिला था. अभिनेता सलमान खान और महिमा चौधरी भी इस फिल्म में एक कैमियो के किरदार में थे.इस फिल्म की कहानी संवाद लिखा था लेखिका अचला नागर ने. अचला नागर ने रंगमंच सस्था स्वास्तिक रंगमंडल के 40 साल पूरे होने पर बागबान की कामयाबी का जिक्र भी किया. और ये भी खुलासा किया कि ये कहानी उन्होने बी.आर चोपड़ा के लिए लिखी थी. जो अपने सबसे पसंदीदा कलाकार दिलीप कुमार को लेकर बागबान बनाना चाहते थे. पर दिलीप कुमार ने इस फिल्म में काम करने से मना कर दिया था. दिलीप कुमार का तर्क था कि कहानी के हिसाब से उन्ही की उम्र की हीरोइन होनी चाहिए. जबकि उनकी समकालीन कोई भी हीरोईन जिंदा नहीं है. ना तो मीना कुमारी हैं. और ना ही मधुबाला है. और ना ही नरगिस. ऐसे में किसी नई उम्र की हीरोइन लेने पर उनके किरदार के साथ नाइंसाफी होगी. दिलीप कुमार के ना कहने पर बीआर चोपड़ा ने इस फिल्म पर काम करना बंद कर दिया था. फिर कई सालों बाद जब इस कहानी पर उनके बेटे रवि चोपड़ा की नजर पड़ी तो. उन्होने तुरंत इस फिल्म को बनाने का फैसला कर लिया. समय के हिसाब से कहानी में थोड़ा सा बदलाव किया गया. फिर कास्टिंग हुई. लीड रोल के लिए अमिताभ बच्चन और हेमा मालिनी को साइन किया गया. फिल्म बनी और हिट रही.