Lehren

आखिर उस रात अपने बंगले की छत पर क्यों रोया था हिंदी सिनेमा का पहला सुपरस्टार?

एक दौर ऐसा आया कि राजेश खन्ना की एक साथ कई फिल्में बॉक्स ऑफिस पर फ्लॉप हो गई. राजेश खन्ना के साथ ऐसा पहली बार हुआ था. इसी बीच एक दिन एक फिल्मी पार्टी के दौरान मीडिया और फोटोग्राफर्स के कैमरे राजेश खन्ना के बजाए अमिताभ बच्चन पर चमकने शुरू कर दिए..ये देख राजेश खन्ना बुरी तरह अपसेट हो गए.

राजेश खन्ना आखिर उस रात अपने बंगले की छत पर क्यों रोया था हिंदी सिनेमा का पहला सुपरस्टार? Source : Press

1969 में रिलीज शक्ति सामंत की अराधना फिल्म की बेजोड़ कामयाबी के बाद राजेश खन्ना की सफलता का जो सिलसिला शुरू हुआ था. वो आगे कई सालों तक जारी रहा. राजेश खन्ना के नाम एक साथ कई फिल्मों की सिल्वर जुबली का रिकॉर्ड भी है. जिसे आजतक कोई तोड़ भी नहीं पाया है. लगातार मिल रही कामयाबी से राजेश खन्ना शोहरत के उम मुकाम पर पहुंच चुके थे. जहां से वापस आना एक ढेडी खीर थी. और ऐसा हुआ भी. सफलता के एक मुकाम पर पहुंचकर राजेश खन्ना पर स्टारडम का नशा छ: गया. और ऐसे समय में राजेश खन्ना ग्लेमर की चकाचौंध में फंस चुके थे. उधर एक नया सितारा अमिताभ बच्चन धीरे धीरे सफलता की ओर बढ रहा था.

फिल्म बावर्ची के सेट पर राजेश खन्ना और जया बच्चन के बीच अमिताभ बच्चन को लेकर हुआ झगड़ा तो आप सभी को याद ही है. फिर एक दौर ऐसा आया कि राजेश खन्ना की एक साथ कई फिल्में बॉक्स ऑफिस पर फ्लॉप हो गई. राजेश खन्ना के साथ ऐसा पहली बार हुआ था. इसी बीच एक दिन एक फिल्मी पार्टी के दौरान मीडिया और फोटोग्राफर्स के कैमरे राजेश खन्ना के बजाए अमिताभ बच्चन पर चमकने शुरू कर दिए. ये देख राजेश खन्ना बुरी तरह अपसेट हो गए. तुरंत उस पार्टी को छोड़ काका गुस्से और निराशा से अपने बंगले की छत पर गए. और जोर जोर से रोने लगे.हिंदी सिनेमा का पहला सुपरस्टार पहली बार इस कदर रो रहा था. और ये भी बुदबुदा रहा था कि भगवान मेरे साथ ही ऐसा क्यों. उस रात के बाद राजेश खन्ना का स्टारडम धीरे धीरे अमिताभ बच्चन की चमक के आगे फीका पड़ता गया.