• Ashburn, United States
  • Thursday 27 April 2017 / 10:28 PM IST
  • Login / Signup
Lehren

देशभक्ति गानों से महेंद्र कपूर ने बनाई थी अपनी पहचान

महेंद्र कपूर की आवाज़ को असली पहचान मिली थी. मनोज कुमार की देशभकित फिल्मों में गाए गीतों के जरिए. उपकार फिल्म का गीत मेरे देश की धरती. और पूरब और पश्चिम फिल्म के गीत भारत का रहने वाला हूं. जैसे यादगार और देशभक्ति गीत 15 अगस्त और 26 जनवरी के मौके पर अक्सर सुनने को मिलते हैं. और जब भी ये गीत हम सुनते हैं. हमारे अंदर देशभक्ति की अलख पैदा होती है.

देशभक्ति, महेंद्र कपूर देशभक्ति गानों से महेंद्र कपूर ने बनाई थी अपनी पहचान Source : Press
09 जनवरी 1934 को अमृतसर में जन्मे महेंद्र कपूर ने मेट्रो मरफी ऑल इंडिया सिंगगिंग प्रतियोगिता जीतकर हिंदी सिनेमा में कदम रखा था. महेंद्र कपूर मो.रफी साहब की आवाज़ के बहुत बड़े भक्त थे. वी शांताराम की नवरंग फिल्म में महेंद्र कपूर को फिल्मों में गाने का मौका मिला था. जिसके बोल थे आधा है चंद्रमा रात आधी. इस फिल्म और गीत की कामयाबी के बाद मो.रफी. तलत महमूद. और मुकेश जैसे मेल सिंगरों के बीच महेंद्र कपूर अपना मुकाम बनाने में कामयाब हो गए. महेंद्र कपूर की आवाज़ को पहले तो नकार दिया गया था. लेकिन बाद में अपनी उसी आवाज़ में महेंद्र कपूर ने सभी को दीवाना बना लिया. बीआर चोपड़ा की फिल्मों धूल का फूल. गुमराह. हमराज. वक्त और निकाह जैसी फिल्मों में महेंद्र कपूर लोगों के बीच में खासे लोकप्रिय हो गए. महेंद्र कपूर की आवाज़ को असली पहचान मिली थी. मनोज कुमार की देशभकित फिल्मों में गाए गीतों के जरिए. उपकार फिल्म का गीत मेरे देश की धरती. और पूरब और पश्चिम फिल्म के गीत भारत का रहने वाला हूं. जैसे यादगार और देशभक्ति गीत 15 अगस्त और 26 जनवरी के मौके पर अक्सर सुनने को मिलते हैं. और जब भी ये गीत हम सुनते हैं. हमारे अंदर देशभक्ति की अलख पैदा होती है. और उस समय महेंद्र कपूर और मनोज कुमार की जोड़ी ने ऐसे ही नायाब गीतों की रचनाएं की थी. जिसे हम भुला नहीं सकते. तभी तो इन्ही गीतों के जरिए इन गीतों की रचना में शामिल हर उस शख्स को याद करत हैं. जिन्होने कड़ी मेहनतकर ऐसे यादगार गीतों को हिंदी सिनेमा की अनमोल धरोहर बनाकर देश के मानस को सौंपा है. कहते हैं कि रफी साहब से कुछ मतभेदों के चलते संगीतकार ओपी नैय्यर ने अपने कई गीतों को महेंद्र कपूर से गवाया था. जिनमें बहारे फिर भी आएंगी का बेहद ही कामयाब गीत शामिल है. जिसके बोल थे. आपके हसीन रूख पे. और हिंदी सिनेमा में इसे किलर सांग के रूप में जाना जाता है.